Share it

झारखंड सरकार के द्वारा राज्य के कितने अस्पतालों में पोस्ट कोविड केयर एंड काउंसिल सेंटर बनाने का निर्णय लिया गया है?
झारखंड सरकार के द्वारा राज्य के 6 अस्पतालों में पोस्ट कोविड केयर एंड काउंसिल सेंटर बनाने का निर्णय लिया गया है। कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों में मराठा बढ़ती हुई परेशानियों को देखकर झारखंड सरकार के द्वारा कदम उठाया गया है। इसके लिए सर्वप्रथम डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल में पीसीसीसीसी की स्थापना की जाने हैं । सूची में शामिल अस्पतालों के नाम इस प्रकार हैंः
रिम्स रांची
टीएमएच जमशेदपुर
बीजीएच बोकारो
पीएमसीएच धनबाद
सेंट्रल हॉस्पिटल धनबाद
एसबीएमसीएच हजारीबाग
पीसीसीसीसी मैं कोरोना से ठीक हुए मरीजों की परेशानी एवं फॉलोअप तथा उनके परामर्श आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। यहां की टीम में फिजीशियन, पल्मनोलॉजिस्ट, कार्डियोलॉजिस्ट, रेडियोलॉजिस्ट, साइकेट्रिस्ट, फिजियोथैरेपिस्ट, न्यूट्रिशन के दो नर्स, टेक्नीशियन एवं एक डाटा एनालिस्ट शामिल होगा।
झारखंड सरकार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी है। यहां के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता है।

झारखंड के सभी जिलों में किस बीमारी के इलाज के लिए मोबाइल वैन की शुरुआत की गई है?
गुर्दे में पथरी के इलाज के लिए झारखंड के सभी जिलों में मोबाइल वैन की शुरुआत की गई है। जिनको भी यह समस्या है उनका अत्याधुनिक तकनीक से इलाज किया जाएगा। इस तकनीक से इलाज करने पर मरीज को कोई तकलीफ नहीं होगी और बिना सर्जरी का भी इसका उपचार किया जा सकेगा। आयुष्मान भारत लाभुकों को मुफ्त में इलाज मिलेगा साथ ही जो भी बीपीएल कार्ड होल्डर्स है उनका इलाज आयुष्मान भारत द्वारा निर्धारित दर के अनुसार पर किया जाएगा।

How many hospitals in the state have been decided by the Jharkhand government to set up Post Covid Care and Council Centers?
It has been decided by the Government of Jharkhand to make Post Covid Care and Council Centers in 6 hospitals of the state. The action has been taken by the Government of Jharkhand in view of the increasing difficulties in Maratha recovering patients from Corona. For this, PCCCC is to be set up at Dedicated Kovid Hospital. The names of the hospitals included in the list are as follows:
Rims Ranchi
TMH Jamshedpur
BGH Bokaro
PMCH Dhanbad
Central Hospital Dhanbad
SBMCH Hazaribagh
In PCCCC, the problems of patients recovering from corona and followup and their consultation etc. will be ensured. The team here will include physicians, pulmonologists, cardiologists, radiologists, psychiatrists, physiotherapists, two nutrition nurses, technicians and a data analyst.
The Principal Secretary, Health Department, Government of Jharkhand is Dr. Nitin Madan Kulkarni. The health minister here is Banna Gupta.

Mobile vans have been started in all the districts of Jharkhand for the treatment of which disease?
Mobile vans have been started in all the districts of Jharkhand for the treatment of kidney stones. Those who have this problem will be treated with state-of-the-art technology. The patient will not have any problem on treatment with this technique and it can be treated without surgery. Ayushman Bharat beneficiaries will get treatment free of cost, as well as those who are BPL card holders will be treated at the rate prescribed by Ayushman Bharat.

By team vinay ias soni


Share it